ऊना में प्रसिद्द ब्रह्मोती मंदिर, स्वर्ग के लिए जाती है ढाई सीढ़ियां

प्राकृतिक खूबसूरती के लिए मशहूर हिमाचल प्रदेश को देवभूमि के नाम से भी जाना जाता है। यहां देवी-देवताओं के कई प्रसिद्द मंदिर और तीर्थ स्थल मौजूद हैं। आज हम आपको हिमाचल प्रदेश के ऐसे ही एक प्रसिद्द और चमत्कारिक मंदिर ब्रह्मोती के बारे में बताने जा रहे हैं। ऊना में हिमाचल-पंजाब बार्डर पर शिवालिक पर्वत की खूबसूरत पहाड़ियों के बीच स्थित इस पवित्र स्थल को मिनी हरिद्वार के रूप में भी जाना जाता है। बता दें कि देश में भगवान ब्रह्म के केवल दो ही मंदिर हैं, एक राजस्थान के पुष्कर में और एक हिमाचल प्रदेश के ऊना में।

ब्रह्मोती मंदिर को लेकर मान्यता है कि यहां पर पांडवों ने अपने सौ पुत्रों के उद्धार के लिए सभी देवी-देवताओं के साथ आहुतियां डाली थी। मंदिर के साथ ही सतलुज नदी बहती है। सतलुज नदी को पुराने समय में ब्रह्म-गंगा नदी के नाम से जाना जाता था। मंदिर के पास में ही एक कुंड भी है, जिसे ब्रह्म-कुंड के नाम से जाना जाता है। मान्यता है कि ब्रह्म कुंड में स्नान करने से पापों से मुक्ति मिलती है। वैशाखी के मौके पर यहां स्नान करने के लिए विशेषतौर पर श्रद्धालु पहुंचते हैं। इसके अलावा भक्तों का यह भी मानना है कि ब्रह्म कुंड में स्नान करके सच्चे मन से मन्नत मांगने पर जरूर पूरी होती है।

ब्रह्मोती मंदिर का इतिहास महाभारतकाल से जुड़ा हुआ है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार अज्ञातवास के दौरान पांडवों ने अपना काफी समय शिवालिक की इन्हीं पहाड़ियों के बीच बिताया था। इस दौरान पांडवों ने स्वर्ग में जाने के लिए रात में यहां पर पांच सीढ़ियां बनानी शुरू की थीं, लेकिन ढाई सीढ़ियां ही बनी थी कि सुबह हो गई और एक बूढ़ी औरत चक्की चलाने के लिए जाग गई। ऐसे में पहचाने जाने के डर से पांडव सीढ़ियों का निर्माण बीच में ही छोड़कर चले गए। कहा जाता है की यह ढाई सीढ़ियां आज भी ब्रह्म गंगा नदी के ब्रह्म कुंड में मौजूद हैं।

कैसे पहुंचें ब्रह्मोती मंदिर

ब्रह्मोती मंदिर, ऊना में स्थित है। बहुत अच्छी तरह से सड़क मार्ग द्वारा अन्य प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। होशियारपुर, जांलधर और अमृतसर सहित कई प्रमुख शहरों से ऊना के लिए सीधी बसें चलती हैं। ऊना में एक छोटा सा रेलवे स्टेशन है, जो देश के अन्य प्रमुख रेलवे स्टेशन से जुड़ा हुआ है। ऊना से नजदीकी हवाई अड्डा लगभग 80 किलोमीटर दूर जालंधर में स्थित है। जालंधर में स्थित हवाई अड्डा एक इंटरनैशनल हवाई अड्डा है। यह हवाई अड्डा देश-विदेश के हवाई अड्डों से नियमित रूप से जुड़ा है। दिल्ली से ऊना की दूरी लगभग 350 किलोमीटर दूर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *