खत्म हुआ पर्यटकों का इंतजार, आज से कर सकेंगे Rohtang Pass का दीदार

देश-विदेश से कुल्लू-मनाली आने वाले हजारों पर्यटक के लिए खुशखबरी है। अब वह कुल्लू-मनाली के साथ-साथ रोहतांग दर्रे की खूबसूरती का आनंद भी ले सकेंगे। कुल्लू उपायुक्त ने रोहतांग दर्रे को पर्यटकों के लिए खोले जाने की अनुमति दे दी है। पर्यटक 1 जून  यानी शनिवार से बर्फीली चादर ओढ़े रोहतांग दर्रे का दीदार कर पाएंगे। 1 जून  से पर्यटकों के वाहन रोहतांग दर्रे तक जा सकेंगे। बता दें कि दिसंबर के महीने में भारी बर्फबारी के चलते यहां पर्यटकों की आवाजाही बंद कर दी गई थी। हाल ही में 19 मई को रोहतांग दर्रे को आधारिक तौर पर खोला गया था, लेकिन बर्फबारी के चलते वाहन पार्किंग की अनुमति नहीं दी गई थी, लेकिन अब पर्यटकों के लिए इसे खोला जा रहा है।

गौरतलब है कि रोहतांग दर्रे को हिमाचल प्रदेश के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल में से एक माना जाता है। यहां जून के महीने में बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। इस बार रोहतांग दर्रे पर मस्ती करने के लिए पर्यटकों को 5 से 20 फीट बर्फ मिलेगी। इसके अलावा पर्यटकों के लिए एक खुशखबरी यह भी है कि इस बार पर्यटक बिना परमिट के भी रोहतांग दर्रे पर बर्फ में मस्ती कर सकेंगे। इसके लिए एनजीटी के आदेश पर तीन जून से एचआरटीसी अपनी इलेक्ट्रिक बस सेवा रोहतांग के लिए शुरू करने जा रही है। तीन जून से रोजाना मनाली बस अड्डे से 25 सीटर इलेक्ट्रिक बसें रोहतांग के लिए रवाना होंगी। हालांकि इस सेवा का लाभ लेने के लिए यात्रियों को 600 रुपये का भुगतान करना होगा।

अगर पर्यटक निजी वाहन से रोहतांग दर्रे पर जाना चाहते हैं, तो इसके लिए उन्हें परमिट लेना पड़ता है, जिसका 550 रुपये शुल्क है। रोहतांग दर्रे पर जाने के लिए रोजाना करीब 1300 वाहनों को ही अनुमति प्रदान की जाती है। बता दें कि इस बार भारी बर्फबारी के कारण रोहतांग पास को देर से खोला गया है। कुल्लू उपायुक्त ने बताया है कि सड़क के दोनों ओर बर्फ की मोटी परत को हटवाकर पार्किंग की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा स्वच्छता का भी विशेष ध्यान रखा गया है। प्रशासन की तरफ से टैक्सी ऑपरेटरों को एक कचरा बैग उपलब्ध कराया है, जिसे उन्हें अपने वाहन में रखना होगा। इसके अलावा पर्यटकों और होटल मालिकों को भी दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *