बर्फीली घाटियां, खूबसूरत झरने और असीमित सौंदर्य लद्दाख को बनाते है स्वर्ग सा सुंदर

जम्मू-कश्मीर को धरती का स्वर्ग भी कहा जाता है क्यों कि प्राकृतिक खूबसूरती के मामले में जम्मू-कश्मीर एक सर्वश्रेष्ठ स्थल है। यहां कई ऐतिहासिक और खूबसूरत पर्यटन स्थल मौजूद हैं। यहीं कारण है कि यहां हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। आज हम आपको जम्मू कश्मीर के सबसे खूबसूरत और प्रसिद्द पर्यटन स्थलों में से एक लद्दाख के बारे में बताने जा रहे है। इंडस नदी के किनारे पर बसा ‘लद्दाख’ लिटिल तिब्बत, मून लैंड या ब्रोकन मून जैसे नामों से भी जाना जाता हैं। रहस्यमय परिदृश्य के लिए मशहूर लद्दाख बर्फ से ढके पहाड़ों, जमे हुए झीलों, फूलों की घाटियां और प्राकृतिक खूबसूरती के लिए दुनिया भर में प्रसिद्द हैं। देशी के साथ यहां बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक भी पहुंचते हैं।

समुद्र तल से लगभग 3500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित लद्दाख विश्व के दो प्रमुख पर्वत श्रृंखलाओं, काराकोरम और हिमालय के बीच स्थित है। इनके अलावा जांस्कर और लद्दाख की समानांतर पर्वतमालाएं, लद्दाख की घाटी को चारों ओर से घेरती हैं। लद्दाख में स्थित क्रिस्टल नीले पानी की पांगोंग झील यहां का प्रमुख आकर्षण है। बौद्ध धर्म के लोगों के बीच लद्दाख का विशेष महत्व है। यहां हेमिस मठ, शंकर गोम्पा, माथो मठ, शे गोम्पा, स्पितुक मठ, और स्तकना मठ जैसे स्थित हैं। अनेक जातियों, संस्कृतियों व भाषाओं का संगम लद्दाख में बड़ी संख्या में पर्वतारोहण करने वाले पर्यटक भी पहुंचते हैं। लद्दाख के एक तरफ चीन और दूसरी तरफ पाकिस्तान स्थित है।

बर्फीली घाटियां, ठंडे पानी के झरने और असीमित खूबसूरती लद्दाख को स्वर्ग जैसा सुंदर बनती है। सितंबर के महीने में बड़ी संख्या में पर्यटक लद्दाख पहुंचते हैं, क्यों कि इस समय यहां ठंड शुरू हो जाती है। सितंबर के महीने में ही यहां लद्दाख का खास त्योहार नरोपा भी मनाया जाता है। इसे लद्दाख का कुंभ भी कहा जा सकता है। लद्दाख पहुंचने वाले पर्यटक पनामिक कुंड की खूबसूरती का आनंद भी ले सकते है। यह कुंड फूलों की घाटी के साथ-साथ गर्म पानी के लिए भी जाना जाता है। आप इस कुंड़ के पानी में बुलबुले निकलते हुए देख सकते है।

कैसे पहुंचें लद्दाख

लद्दाख हमेशा बर्फ से ढका रहता है। लद्दाख जाने के लिए मई से लेकर नवंबर तक का समय सबसे अच्छा समय है। लद्दाख सड़क मार्ग द्वारा जम्मू कश्मीर के प्रमुख शहरों जम्मू और श्रीनगर से सीधे जुड़ा हुआ है। लद्दाख से नजदीकी रेलवे स्टेशन लगभग 705 किलोमीटर दूर ‘जम्मू तवी’ रेलवे स्टेशन है। जम्मू रेलवे स्टेशन देश के दूसरे बड़े शहरों नई दिल्ली, मुंबई, पुणे, चेन्नई से सीधा जुड़ा हुआ है। पर्यटक जम्मू, चंडीगढ़, दिल्ली, श्रीनगर से हवाई मार्ग द्वारा लेह हवाई अड्डे तक पहुंच सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!