प्राकृतिक सुंदरता का धनी है नैनीताल का भवाली

नैनीताल, उत्तराखंड के सबसे प्रसिद्द पर्यटन स्थलों में से एक है। यहां पूरे वर्ष पर्यटकों का आना जाना लगा रहता हैं। हरी-भरी पहाड़ियों से घिरा यह पर्यटन स्थल अपनी खूबसूरत झीलों के लिए पूरे विश्व में जाना जाता है। नैनीताल की हसीन वादियों के बारे में तो सब जानते हैं, लेकिन इसके नजदीक अन्य पर्यटन स्थलों के बारे में ज्यादातर पर्यटकों को पता नहीं हैं। यही कारण है कि नैनीताल आने के बाद भी पर्यटक इन खूबसूरत स्थलों का दौरा करने से वंचित रह जाते हैं। भवाली हिल स्टेशन नैनीताल का एक ऐसा ही बेहद खूबसूरत पर्यटन स्थल है, जिसके बारे में कम ही लोग जानते हैं। भवाली की हसीन वादियों, मनमोहक वातावरण और पहाड़ पर्यटकों को काफी आकर्षित करते हैं।

प्राकृतिक सुंदरता

समुद्री सतह से 1,654 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद भवाली कुमाऊं मंडल के अंतर्गत एक पर्वतीय नगर है। भवाली के ऊंचे-ऊंचे पहाड़, सीढ़ीदार खेत, घुमावदार सड़कें और हरियाली यहां आने वाले पर्यटकों को काफी रोमांचित करती है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता के साथ-साथ एक पहाड़ी फल मंडी के रूप में भी जाना जाता है। भवाली अल्मोडा, रानीखेत, भीमताल, मुक्तेश्वर से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। भवाली में सेब, आड़ू, स्ट्रॉबेरी, प्लम और खुबानी जैसे बेहतरीन गुणवत्ता वाले फलों का उत्पादन किया जाता है और इन्हें बाहर निर्यात किया जाता है। भवाली से हिमालय के सुंदर नजारों के भी दर्शन होते हैं। यहां के प्राकृतिक नजारे और यहां बहने वाली ठंडी-ठंडी हवाएं पर्यटकों को ताजगी का अहसास कराती हैं।

Image result for bhowali uttarakhand

टीबी सैनिटोरियम

भवाली अपने प्राचीन टीबी सैनिटोरियम के लिए भी काफी प्रसिद्द है। इसकी स्थापना साल 1912 में हुई थी। चीड़ के पेड़ों की हवा टी. बी. के रोगियों के लिए लाभदायक होती है। इसलिए इस अस्पताल को चीड़ के घने जंगल के मध्य स्थापित किया गया है। भवाली की जलवायु अत्यंत स्वास्थ्यवर्द्धक है। इसके अलावा रोमांच के शौकीनों के लिए भी भवाली में बहुत कुछ है। पर्यटक यहां से नैनी झील, भीमताल या रामगढ़ की सैर का प्लान बना सकते हैं। भवाली में आप अपने परिवार के साथ आदर्श समय व्यतीत कर सकते हैं।

कैसे पहुंचें भवाली

भवाली का मौसम सालभर खुशनुमा बना रहता है। इसलिए यहां आप साल के किसी भी मौसम में जा सकते हैं। हां, अगर आप ज्यादा ठंड से बचना चाहते हो तो सितंबर से लेकर नवंबर अंत तक यहां जा सकते हो। नैनीताल के नजदीक होने कारण यहां पहुंचना बहुत आसान है। भवाली से नजदीकी रेलवे स्टेशन 37 किलोमीटर दूर काठगोदाम में है। दिल्ली से काठगोदाम के बीच सीधी ट्रेन चलती हैं। यहां से निकटतम हवाई अड्डा 62 किलोमीटर दूर पंतनगर में है। भोवाली उत्तराखंड राज्य के प्रमुख शहरों और कस्बों को जोड़ने वाली सड़कों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है। नैनीताल के लिए बसें आईएसबीटी आनंद विहार, दिल्ली से आसानी से उपलब्ध हैं।

अद्भुत सौंदर्य ही नहीं, अवंतिपुर के खंडहर मंदिरों में भी बसती है कश्मीर की खूबसूरती

पौड़ी गढ़वाल का बहुत ही खूबसूरत एवं आकर्षक स्थल है ताराकुंड

मंत्रमुग्ध कर देने वाली खूबसूरती के लिए पर्यटकों के बीच प्रसिद्द है कसौली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/himalayandiary/public_html/wp-includes/functions.php on line 4344