प्रकृति की खूबसूरत वादियों के बीच समय बिताना हो तो चले आइये जंजैहली घाटी

अगर आप उन लोगों में से हो जिन्हें प्रकृति की खूबसूरत वादियों के बीच समय बिताना अच्छा लगता है तो जंजैहली घाटी आपके लिए एक आदर्श पर्यटन स्थल साबित होगा। जंजैहली घाटी हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के थुनाग तहसील में स्थित है। समुद्रतल से लगभग 2150 मीटर की ऊंचाई पर स्थित यह एक सुंदर पहाड़ी और हरा भरा क्षेत्र है। यहां आपको आध्यात्मिक शांति के साथ-साथ प्रकृति के खूबसूरत नजारों के भी दर्शन होते है। इन दिनों यह घाटी कई देशी और विदेशी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। यहां रोजाना सैकड़ो की तादाद में पर्यटक पहुंचते हैं।

शहर के शौर-शराबे से दूर जंजैहली घाटी आकर आपको ऐसा लगेगा जैसे आप किसी अलग ही दुनिया में आ गए हो। हरे-भरे घास के मैदान, ऊंचे-ऊंचे पेड़ और चारों ओर फैली असीम शांति पर्यटकों को खासी पसंद आती है। जंजैहली घाटी के नजदीक ही पांडव शिला नामक स्थान आता है जहां आप भीमशिला नाम की एक विशाल चट्टान के दर्शन कर सकते है। इस चट्टान की खास बात यह है कि इसे कोई भी केवल अपनी सबसे छोटी अंगुली से हिला सकता है। इस चट्टान को महाभारत के भीम का चुगल माना जाता है। लोग इस चट्टान की पूजा करते है।

जंजैहली घाटी के निकट एक अन्य खूबसूरत पर्यटन स्थल भुलाह भी स्थित है। घास के मैदान, चारों ओर देवदार, बान आदि के पेड़ों से घिरा होने के कारण यहां की खूबसूरती देखने लायक होती है। भुलाह की भौगोलिक सरंचना हिमाचल का ‘मिनी स्विट्जरलैंड’ कहे जाने वाले खजियार की याद दिला देती है। भुलाह से लगभग 10 किलोमीटर दूर प्रसिद्द शिकारी देवी मंदिर भी स्थित है। यह एक ऐसा मंदिर है जिसकी छत नहीं है। मान्यता है कि इस मंदिर को पांडवों ने अपने अज्ञातवास के दौरान बनाया था।

कैसे पहुंचें जंजैहली घाटी

अगर आप जंजैहली घाटी आना चाहते है तो इसके लिए गर्मी का मौसम आदर्श समय है। अप्रैल से अक्टूबर तक यहां आया जा सकता है। यहां ठहरने के लिए लोक निर्माण विभाग, जंगलात महकमे का रेस्ट हाऊस तथा अन्य निजी होटल और सराय भी हैं। जंजैहली घाटीम की मंडी से दूरी लगभग 90 किलोमीटर है। इस दूरी को आप निजी वाहन या बस द्वारा आसानी से तय कर सकते है। इसके अलावा आप चंडीगढ़-मनाली राष्ट्रीय राजमार्ग-21 या फिर पठानकोट-जोगिन्द्रनगर मार्ग द्वारा सुंदरनगर होते हुए भी जंजैहली घाटी तक पहुंच सकते है। जंजैहली घाटी से निकटतम हवाई अड्डा 115 किलोमीटर दूर भुंतर में स्थित है। जंजैहली घाटी से नजदीकी बड़ा रेलवे स्टेशन लगभग 303 किलोमीटर दूर पठानकोट में है। पठानकोट से पर्यटक रेल मार्ग द्वारा जोगिन्दर नगर तक पहुंच सकते हैं। जंजैहली घाटी से जोगिन्दर नगर की दूरी लगभग 152 किलोमीटर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *