श्रीनगर में डल झील के पश्चिम में है ऐतिहासिक हरी पर्वत किला

जम्मू-कश्मीर अपने अंदर अद्भुत खूबसूरती समेटे हुए है। यहां की अनोखी खूबसूरती के कारण ही जम्मू कश्मीर को धरती का स्वर्ग कहा जाता है। कश्मीर की प्राकृतिक वादियां, झरने, नदियां, बर्फ से ढके पहाड़ और घने जंगल यहां की खूबसूरती को इस कदर बढ़ाते हैं कि हर साल लाखों की संख्या में पर्यटक जम्मू कश्मीर की ओर खींचे चले आते हैं। प्राकृतिक खूबसूरती के साथ-साथ जम्मू कश्मीर में कई ऐतिहासिक स्थल भी मौजूद हैं। आज हम आपको जम्मू कश्मीर के एक ऐसे ही स्थल हरि पर्वत के बारे में बताने जा रहे हैं, जो पर्यटकों के बीच काफी प्रसिद्द है। इस पर्वत का अपना धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व है।

हरी पर्वत किला

हरी पर्वत जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में डल झील के पश्चिम की ओर है। इस छोटी पहाड़ी के शिखर पर एक ऐतिहासिक किला बना हुआ है, जिसे हरी पर्वत किला के नाम से जाना जाता है। इस किले की देखभाल जम्मू कश्मीर सरकार का पुरातत्व विभाग करता है। हरी पर्वत किले का निर्माण 18वीं सदी में एक अफगान गर्वनर मुहम्मद खान ने करवाया था। इसके बाद 1590 ई में मुगल सम्राट अकबर ने इस किले के चारों ओर की दीवारों का निर्माण करवाया था। ऐतिहासिक हरी पर्वत किले का दीदार करने के लिए हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। हालांकि हरी पर्वत किले की यात्रा व सैर के लिए पर्यटकों को विभाग से अनुमति लेनी पड़ती है।

Image result for hari parbat fort

पौराणिक कथा

हरी पर्वत किले से एक पौराणिक कथा भी जुड़ी हुई है। कथा के अनुसार पूर्व काल में हरी पर्वत पर एक बड़ी झील हुआ करती थी। इस झील पर जालोभावा नाम के एक भयानक राक्षस ने कब्जा किया हुआ था। जालोभावा यहां रहने वाले लोगों को सताता था। राक्षस से परेशान लोगों ने माता सती से मदद के लिए प्रार्थना की। अपने भक्तों की प्रार्थना सुन माता सती ने एक चिडिया का रूप धारण किया और राक्षस के सिर पर एक छोटा पत्थकर फेंका। यह पत्थर धीरे-धीरे बड़ा होता गया और राक्षस का सिर कुचल दिया। हरि पर्वत क़िले के पास कई अन्य मुख्य आकर्षण स्थान भी हैं, जैसे- लाल मंडी स्वारात यर और शारिका देवी मंदिर।

कैसे पहुंचें हरी पर्वत

हरी पर्वत श्रीनगर में डल झील के पश्चिम ओर स्थित है। श्रीनगर तक दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के कई शहरों से बस सेवा है। इसके अलावा जम्मू से भी सीधी बस सेवा श्रीनगर के लिए है। श्रीनगर तक कोई भी सीधी रेल लाइन नहीं है। श्रीनगर से सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन उधमपुर या जम्मू तवी रेलवे स्टेशन है। जम्मू तवी और उधमपुर तक कई रेल जाती हैं। जम्मू तवी तो देश के लगभग हर बड़े शहर से जुड़ा है। जम्मू तवी रेलवे स्टेशन से श्रीनगर तक टैक्सी से भी जा सकते हैं। जम्मू एयरपोर्ट से फ्लाइट पकड़कर भी जा सकते हैं। श्रीनगर तक भारत के लगभग हर बड़े शहर से सीधी उड़ान उपलब्ध है।

श्रीनगर में है खीर भवानी मंदिर, आने वाले संकट को दर्शाता है झरने का पानी

श्रीनगर की वादियों में बसा है भगवान शिव का अति प्राचीन शंकराचार्य मंदिर

प्रकृति प्रेमियों के बीच प्राकृतिक खूबसूरती के लिए प्रसिद्द है श्रीनगर का युसमर्ग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/himalayandiary/public_html/wp-includes/functions.php on line 4344