एक स्तंभ पर घूमता था हिमाचल का यह मंदिर, बना है लकड़ी से

शिव शक्ति मंदिर छतराड़ी का निर्माण 780 ई पूर्व में हुआ था। मंदिर का निर्माण गोगा नामक मिस्त्री ने किया था। कहा जाता है कि गोगा मिस्त्री का एक ही हाथ था और मां के आर्शीवाद से कारीगर ने मंदिर का निर्माण पूरा किया।

Read more

हिमाचल में बारिश और बर्फबारी से लुढ़का पारा, अक्टूबर से दिखेगा ठंड का असर

जिला कुल्लू में भी काफी बारिश हुई है। हमीरपुर में भी बादल बरसे हैं। मनाली में बारिश होने से सेब का तुड़ान प्रभावित हुआ है। मनाली के मशहूर पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रे में भी बर्फ के फाहे गिरे हैं।

Read more

हिमाचल प्रदेश की खूबसूरती को IITM ने भी किया सलाम, मिले दो अवार्ड

पर्यटक हिमाचल प्रदेश की खूबसूरती से इतने प्रभावित हुए कि बड़ी संख्या में पर्यटकों ने सितंबर महीने में हिमाचल के विभिन्न पर्यटन स्थलों में घूमने आने के लिए इन्क्वायरी कर दी।

Read more

अब साहसिक खेल होंगे और भी सुरक्षित, हिमाचल सरकार लाएगी नए नियम

प्रदेश सरकार पैराग्लाइडिंग को अधिक सुरक्षित बनाने के लिए एक मोबाइल ऐप तैयार करेगी, जिससे पैराग्लाइडिंग पायलटों के उड़ान घंटों को मॉनिटर किया जा सकेगा।

Read more

शांत वातावरण के बीच पब्बर घाटी में करें प्रकृति के अद्भुत सौंदर्य का दीदार

पर्यटक पब्बर घाटी आकर ट्रैकिंग, स्कीइंग, शिविर लगाना, पैराग्लाइडिंग और हैन्ड ग्लाइडिंग जैसी साहसिक गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं। पब्बर नदी के किनारे स्थित पब्बर घाटी को ट्राउट मछली पकड़ने के लिए भी जाना जाता है।

Read more

गढ़वाल में है रहस्यमयी पर्वत खैट, यहां आज भी नजर आती है परियां

हैरान करने वाली बात यह है कि यहां दीवारों पर अनाज कूटने के लिए जमीन पर बनाई जाने वाले ओखली बनी हुई है। इस बात से वैज्ञानिक भी हैरान हैं। एक ओर खास बात यह है कि इस वीरान इलाके में स्वत ही अखरोट और लहसुन की खेती भी होती है।

Read more

उत्तराखंड में फिर से शुरू होगा साहसिक पर्यटन, राफ्टिंग एवं क्याकिंग नियमावली को मिली मंजूरी

बीते 21 जून को नैनीताल हाईकोर्ट द्वारा नदियों को हो रहे नुकसान को देखते हुए राफ्टिंग पर प्रतिबंध लगा दिया था। साथ ही कोर्ट ने सरकार से रिवर राफ्टिंग, पैराग्लाइडिंग और अन्य पानी से जुड़े खेलों को लेकर नियम और नीति बनाने के निर्देश दिए है। विभाग द्वारा लाई गई नई नियमावली में हर नदी में विशेष अभियानों को मंजूरी देने का प्रावधान किया गया है। नियमावली को उत्तराखंड कैबिनेट द्वारा मंजूरी मिलने के बाद राज्यपाल ने भी इस संशोधन को मंजूरी दे दी है।

Read more

बर्फीली चोटियां और अनछुई प्राकृतिक खूबसूरती, एडवेंचर के शौकीनों के लिए खास है जलोरी पास

जलोरी पास जाने का सबसे अच्छा समय जून से लेकर अक्टूबर के बीच का होता है। यहां सर्दियों के मौसम में बहुत ज्यादा ठंड होती है, इस कारण यहां दिसंबर, जनवरी या फरवरी के महीनों में नहीं जाना चाहिए। इन महीनों में यह जगह बर्फ से ढकी हुई रहती है।

Read more

विश्व का सबसे रोमांचक पर्यटन स्थल बनेगा हिमाचल, ऐसे नजारे दिखेंगे जो किसी ने नहीं देखे

हिमाचल में आपको ऐसे नए और अद्भुत नजारे देखने को मिलेंगे जो पहले किसी ने नहीं देखे होंगे। इसके साथ ही एडवेंचर टूरिज्म और एंडवचर स्पोर्ट्स की ख्वाहिश रखने वालों की मुराद भी पूरी होगी। प्रदेश सरकार ने हिमाचल में 13 नए रोपवे बनाने का फैसला लिया है। यह रोपवे शिकारी देवी, नारकंडा स्थिति हाटू, चायल, पालमपुर, शाहतलाई, जंजैहली व धर्मशाला आदि स्थानों पर बनाए जाएंगे।

Read more

ऐसा क्या है स्पीति घाटी के ठंडे रेगिस्तान में जो खिंचे चले आते हैं पर्यटक

यूं तो हिमाचल प्रदेश के कई जगहें ऐसी हैं जो पर्यटन के लिए दुनिया भर में मशहूर हैं और साल भर सैलानियों की भीड़ लगी रहती है लेकिन राज्य के ट्रांस-हिमालयी बेल्ट के अंदरूनी इलाकों में भी ऐसे प्राकृतिक नजारें भरे पड़े हैं जहां अलग तरह की जादुई दुनिया देखने को मिलती है। दूर तक फैसले सूखे, बंजर और कठोर पहाड हैं तो कल-कल करती स्पीति नदी और उसके आसपास झीलें मन को मोह लेती है।

Read more

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/himalayandiary/public_html/wp-includes/functions.php on line 4344