मंत्रमुग्ध कर देने वाली खूबसूरती के लिए पर्यटकों के बीच प्रसिद्द है कसौली

कसौली एक शांत, साफ-सुथरा ख़ूबसूरत और सस्ता पर्यटन स्थल है। पक्षियों के कलरव के बीच यहां फैली असीम शांति इस जगह की खासियत है। कसौली आने वाले पर्यटक यहां की खूबसूरती में इतना खो जाते हैं कि वह कुछ समय के लिए अपने दुख-दर्द भी भूल जाते हैं।

Read more

प्राकृतिक खूबसूरती और प्राचीनतम धार्मिक स्थलों का संगम है नारानाग

नारानाग में स्थित मंदिर भारत के सबसे महत्वपूर्ण पुरातन-स्थलों में गिने जाते हैं। यहां भगवान शिव को समर्पित मंदिरों का समूह है जो एक-दूसरे की तरफ मुख किये हुए हैं। माना जाता है कि इन मंदिरों का निर्माण 8वीं शताब्दी में कश्मीर नरेश ललितादित्य ने करवाया था।

Read more

शांत वातावरण के बीच पब्बर घाटी में करें प्रकृति के अद्भुत सौंदर्य का दीदार

पर्यटक पब्बर घाटी आकर ट्रैकिंग, स्कीइंग, शिविर लगाना, पैराग्लाइडिंग और हैन्ड ग्लाइडिंग जैसी साहसिक गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं। पब्बर नदी के किनारे स्थित पब्बर घाटी को ट्राउट मछली पकड़ने के लिए भी जाना जाता है।

Read more

अनछुई प्राकृतिक खूबसूरती का धनी है रानीखेत के नजदीक हिल स्टेशन चौखुटिया

अगर आप प्रकृति की खूबसूरती का आनंद उठाने के लिए एक आदर्श पर्यटन स्थल की सैर करना चाहते है तो आप चौखुटिया आकर इस क्षेत्र की प्राकर्तिक सौन्दर्यता का आनंद ले सकते है।

Read more

बर्फ से ढकी चोटियों के बीच अद्भुत एहसास देती है भृगु झील

भृगु झील का मजा लेने के लिए देशी ही बल्कि विदेशी पर्यटक भी बड़ी संख्या में पहुंचते हैं। खासकर रोमांच के शौकीनों के लिए तो यह जगह किसी जन्नत से कम नहीं है। यहां बर्फीली सड़क के ऊपर ट्रैकिंग करना अपने आप में अद्भुत अनुभव प्रदान करता है।

Read more

खूबसूरत पर्यटन स्थलों से भरपूर पौड़ी में आकार आपको हो जाएगा प्रकृति से प्यार

चारों तरफ ऊंची-ऊंची पहाड़ियों और देवदार के जंगलों से घिरा पौड़ी उत्तराखंड के सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थलों में से एक है। यहां आकर आप बर्फ से ढकी ब्रंदा पूच, गंगोत्री ग्रुप, केदारनाथ, नीलकंठ, नंदादेवी और त्रिशूल पहाड़ियों के खूबसूरत नजारों का आनंद ले सकते हैं।

Read more

पहाड़ियों के बीच स्थित पिथौरागढ़ का बेहद खूबसूरत हिल स्टेशन है अस्कोट

प्राकृतिक खूबसूरती के अलावा अस्कोट अपने कस्तूरी मृगों के लिए प्रसिद्ध है। इस वजह से ही इन हिरणों की सुरक्षा के लिए यहां असकोट कस्तूरी मृग अभ्यारण का निर्माण किया गया है। अभ्यारण्य के ठीक सामने गरखा की उपजाऊ ढलानें हैं, जबकि इसके बायीं ओर नेपाल की पहाड़ियां और काली नदी है।

Read more

एडवेंचर लवर्स के लिए स्वर्ग के सामान है खीरगंगा, मनमोहक है दिलकश खूबसूरती

मान्यता है कि भगवान शिव की कृपा से किसी समय यहां खीर निकलती थी। एक दिन जब परशुराम ने देखा कि लोग इस खीर को खाने के लालच में बावले हुये जा रहे हैं तो उन्होंने श्राप दे दिया कि अब यहां से कोई खीर नहीं निकलेगी।

Read more

सौंदर्य से परिपूर्ण हिमाचल प्रदेश के सबसे प्रमुख हिल स्टेशन में से एक है परवाणू

हिमाचल प्रदेश और हरियाणा के पंचकुला शहर की सीमा रेखा के बीच में बसे होने के कारण परवाणू को बार्डर टाउन के नाम से भी जाना जाता है। परवाणू को एक औद्योगिक शहर के रूप में पहचाना जाता है क्यों कि यहां पर कई बड़े-बड़े कारखाने और उद्योग स्थापित है।

Read more
error: Content is protected !!

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/himalayandiary/public_html/wp-includes/functions.php on line 4469