हिमाचल का यह ऐसा मंदिर है, जहां माथा टेके बिना आगे नहीं बढ़ा सकते गाड़ी

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले के एनएच-5 के किनारे तरंडा देवी का मंदिर है। यहां से गुजरने वाली हर गाड़ी यहां रुकती है। रामपुर से करीब 40 किलोमीटर दूर इस मंदिर का इतिहास बहुत ही रोचक है।

Read more

450 साल पुरानी है जखणी माता की प्रतिमा, एक टांग पर परिक्रमा करते हैं श्रद्धालु

पालमपुर के चंदपुर गांव के ऊपर एक पहाड़ी पर एक प्राचीन मंदिर स्थित है, जिसे जखणी माता के नाम से जाना जाता है। यह मंदिर बंदला माता मंदिर से लगभग 5 किलोमीटर और पालमपुर से 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

Read more

पंडोह डैम से बगलामुखी मंदिर तक जाना हुआ आसान, कम होगी 10 किमी दूरी

राेप-वे के बन जाने से एक घंटे में 500 लाेगाें काे लाने ले जाने की सुविधा मिलेगी। इस मंदिर में हर साल लाखाें की संख्या में श्रद्धालुओं का आना लगा रहता है।

Read more

बर्फबारी के चलते आधिकारिक तौर पर बंद हुआ मनाली-लेह मार्ग, हटाई अस्थाई चौकी

इस मार्ग पर वाहनों की आवाजाही अपने जोखिम पर सुचारू रहेगी, लेकिन कुंजम, शिकुला व बारालाचा दर्रे में अचानक होने वाली बर्फबारी कभी भी सैलानियों के मार्ग में बाधक बन सकती है।

Read more

करवा चौथ और दीवाली का मजा होगा दोगुना, पाएं हिमाचल के होटलों में ‘फ्री ऑफर’

दीवाली के दौरान 16 से 18 अक्तूबर तक दो रात की होटल बुकिंग पर तीसरी रात का ठहराव पूरी तरह से फ्री होगा। यह खास सुविघा एचपीटीडीसी के प्रदेश में स्थित सभी होटलों में मान्य होगी।

Read more

3.5 करोड़ रुपये से चमकेगा बगलामुखी मंदिर, दर्शन के लिए आ चुके हैं पूर्व राष्ट्रपति और प्रधामंत्री भी

हिमाचल शुरूआत से ही देवताओं व ऋषि-मुनियों की तपोस्थली रहा है। कांगड़ा जनपद के कोटला क़स्बे में स्थित माँ श्री बगलामुखी का सिद्ध शक्तिपीठ है।जब प्रणब मुखर्जी देश के राष्ट्रपति बने तब वे इस मंदिर में माता के दर्शन के लिए आए। राष्ट्रपति 40 मिनट तक माता बगलामुखी परिसर में रुके रहे।

Read more

प्रकृति की गोद में बसा है प्रसिद्ध मंकी पॉइंट, यहां पड़े थे हनुमान जी के पांव

मंकी पॉइंट पर आकर पर्यटक खुद को प्रकृति के बीच महसूस करते हैं। इस स्थान से सतलुज नदी, चंडीगढ़ और बर्फ ढकी से चूर चांदनी चोटी के दर्शन होते हैं।

Read more

असाधारण नक्काशी का अद्भुत नमूना है Lahaul का मृकुला देवी मंदिर

बाहर से देखने पर यह धार्मिक स्थल साधारण और कुटीर सा लगता है, लेकिन भीतर जाने पर आपको कला की एक अलग ही दुनिया देखने को मिलती है। मंदिर की काष्ठ कला विभिन शताब्दियों में की गई हैं।

Read more

15 जुलाई से शुरू होगी श्रीखंड महादेव की यात्रा, मानी जाती है बेहद कठिन यात्रा

हर साल लगभग जुलाई के समय में शुरू होती है जो लगभग 15 दिनों तक चलती है। इस साल यह यात्रा 15 से 25 जुलाई तक होगी। यात्रियों को 10 से 14 जुलाई तक निरमंड तहसील कार्यालय में पंजीकरण करवाना होगा।

Read more

हिमाचल के इस मंदिर में दो भागों में बंटा है शिवलिंग, अपने आप घटती बढ़ती है दूरी

काठगढ़ महादेव मंदिर विश्व का एकमात्र ऐसा मंदिर है, जहां दो भागों में बंटा ‌शिवलिंग हैं। गर्मियों में इस प्रतिमा के बीच काफी अंतर आ जाता है,वहीं सर्दियों के यह अंतर कम हो जाता है और दोनों रूप एक रूप धारण कर लेते हैं।

Read more
error: Content is protected !!

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/himalayandiary/public_html/wp-includes/functions.php on line 4469