दशहरा उत्सव की तैयारियां जोरों पर, 300 देवी-देवताओं को भेजे जा चुके हैं निमंत्रण

दशहरा उत्सव के लिए आयोजन समिति की ओर जिला के देवी-देवताओं को भेजे जा रहे हैं। अब तक 300 के करीब देवी देवताओं को निमंत्रण भेज दिए गए हैं।

Read more

हिमाचल की खूबसूरती और सांस्कृतिक विविधता दिखाता ‘सर्वे भवन्तु सुखिन:’

जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार प्रदेश की सांस्कृतिक विविधता को हर कीमत पर संरक्षित कर रही है। ‘सर्वे भवन्तु सुखिन:’ पर्यटकों को राज्य की सांस्कृतिक विविधता दिखाने में लंबा रास्ता तय करेगा।

Read more

हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड को भारी पड़ सकते हैं अगले कुछ दिन

मौसम विभाग ने एक बार फिर हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश होने का अनुमान लगाया है। विभाग ने आज से प्रदेश में भारी बारिश होने की चेतावनी जाहिर की है।

Read more

हिमाचल प्रदेश की खूबसूरती को IITM ने भी किया सलाम, मिले दो अवार्ड

पर्यटक हिमाचल प्रदेश की खूबसूरती से इतने प्रभावित हुए कि बड़ी संख्या में पर्यटकों ने सितंबर महीने में हिमाचल के विभिन्न पर्यटन स्थलों में घूमने आने के लिए इन्क्वायरी कर दी।

Read more

प्राकृतिक सुंदरता का धनी है नैनीताल का भवाली

भवाली से हिमालय के सुंदर नजारों के भी दर्शन होते हैं। यहां के प्राकृतिक नजारे और यहां बहने वाली ठंडी-ठंडी हवाएं पर्यटकों को ताजगी का अहसास कराती है।

Read more

हिमाचल के शक्तिपीठों में श्रावण अष्टमी मेले की शुरुआत, श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

गुरुवार सुबह से ही प्रदेश के शक्तिपीठों मां चामुंडा, मां चिंतपुर्णी, मां ब्रजेश्वरी देवी, मां ज्वाला और नैना देवी मंदिर पर श्रद्धालु पहुंचने लगे थे। इस दौरान मंदिरों में लंबी-लंबी कतार देखी गई।

Read more

3.5 करोड़ रुपये से चमकेगा बगलामुखी मंदिर, दर्शन के लिए आ चुके हैं पूर्व राष्ट्रपति और प्रधामंत्री भी

हिमाचल शुरूआत से ही देवताओं व ऋषि-मुनियों की तपोस्थली रहा है। कांगड़ा जनपद के कोटला क़स्बे में स्थित माँ श्री बगलामुखी का सिद्ध शक्तिपीठ है।जब प्रणब मुखर्जी देश के राष्ट्रपति बने तब वे इस मंदिर में माता के दर्शन के लिए आए। राष्ट्रपति 40 मिनट तक माता बगलामुखी परिसर में रुके रहे।

Read more

हिमाचल की खूबसूरत ऑफबीट जगहों में से एक है जुब्बल, बनाएं घूमने का प्लान

हिमाचल में एक ऐसा ही एक खूबसूरत पर्यटक स्थल जुब्बल है, जो कि पब्बर नदी के तट पर स्थित है। समुद्रतल से इसकी ऊंचाई 1901 मीटर है। 288 वर्ग मील के एक क्षेत्र में फैला, यह जगह प्राकृतिक परिदृश्य का एक मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है।

Read more

इस वर्ष नहीं होगी किन्नर कैलाश यात्रा, प्रशासन ने लिया निर्णय

यात्रा के दौरान खराब मौसम, बर्फ से ढके रास्तों, ग्लेशियर व क्षतिग्रस्त वन हट्स को लेकर चर्चा की गई, जिसके बाद इस वर्ष किन्नर कैलाश यात्रा को रद्द करने का फैसला लिया गया है।

Read more