Kullu Archives - THE HIMALAYAN DIARY

कुल्लू में पैराग्लाइडिंग सहित अन्य साहसिक गतिविधियों पर लगा प्रतिबंध

अगले दो महीने तक कुल्लू जिले में रिवर राफ्टिंग, पैराग्लाइडिंग और अन्य साहसिक गतिविधियों पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है। यह प्रतिबंध कुल्लू जिले में हो रही भारी बारिश को देखते हुए लिया गया है।

Read more

बर्फ से ढकी चोटियों के बीच अद्भुत एहसास देती है भृगु झील

भृगु झील का मजा लेने के लिए देशी ही बल्कि विदेशी पर्यटक भी बड़ी संख्या में पहुंचते हैं। खासकर रोमांच के शौकीनों के लिए तो यह जगह किसी जन्नत से कम नहीं है। यहां बर्फीली सड़क के ऊपर ट्रैकिंग करना अपने आप में अद्भुत अनुभव प्रदान करता है।

Read more

खत्म हुआ पर्यटकों का इंतजार, आज से कर सकेंगे Rohtang Pass का दीदार

रोहतांग दर्रे को हिमाचल प्रदेश के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल में से एक माना जाता है। यहां जून के महीने में बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। इस बार रोहतांग दर्रे पर मस्ती करने के लिए पर्यटकों को 5 से 20 फीट बर्फ मिलेगी।

Read more

हिमाचल के शोजा में है रहस्यमयी और चमत्कारिक सेरोलसर झील

सेरोलसर झील का पानी क्रिस्टल की तरह एकदम साफ है। झील के पानी में आपको एक भी कूड़ा करकट नजर नहीं आएगा। जब झील के साफ़ पानी पर सूरज की किरणे गिरती है तो नजारा अत्यंत खूबसूरत हो जाता है।

Read more

हिमाचल के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का दौर जारी, कुल्लू-मनाली में बारिश

रोहतांग दर्रा के अलावा बाराचुला, कुंजुम दर्रा, मकरवे, शिकरवे, मनाली पीक, सेवन सिस्टर पीक, लद्दाखी, हनुमान पीक, देऊ टिब्बा और चंद्रताल में भी बर्फबारी हुई।

Read more

प्रकृति की खूबसूरत वादियों के बीच स्थित एक आदर्श पर्यटन स्थल है गुशैनी

गुशैनी को ट्राउट देश भी कहा जाता है, क्योंकि यह ट्राउट मछली पकड़ने के लिए एक लोकप्रिय स्थान है। यहां प्रचुर मात्रा में ट्राउट मछली उपलब्ध हैं। गुशैनी मछली पकड़ने के अवसरों को प्रदान करता है। कुल मिलाकर प्रकृति से प्यार करने वालों के लिए यह एक आदर्श स्थल है।

Read more

प्रकृति को करीब महसूस करने के लिए आदर्श स्थल है ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क

यहां आकर पर्यटक भूरे भालू, औबेक्स, काले भालू, कस्तूरी मृग, हिम तेंदुए की दुर्लभ प्रजातियों और हिमालयन थार जैसे पशुओं को देख सकते हैं। यहां सैकड़ों दुर्लभ पशुओं का बसेरा है। दुर्लभ प्रजाति के सुगंधित और औषधीय गुणों से भरपूर पौधे भी यहां मौजूद हैं। यहां बड़ी संख्या में तेंदुएं पाएं जाते हैं।

Read more

कुल्लू में मौसम फिर ले सकता है करवट, पर्यटकों और स्थानीय लोगों के लिए तीन दिनों का अलर्ट जारी

कुल्लू प्रशासन ने पर्यटकों से अपील की है कि वह बर्फबारी के दौरान ऊंची पहाड़ियों की ओर न जाएं। प्रशासन ने तीन दिनों तक तीन दिन मौसम खराब रहने का अलर्ट जारी किया है। प्रशासन ने कहा है कि किसी भी प्रकार की आपात स्थति में पर्यटक या स्थानीय लोग जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के टोल फ्री नंबर 1077 पर संपर्क कर सकते हैं। प्रदेश में 15 नवंबर से मौसम शुष्क रह सकता है। प्रदेश में इन दिनों सुबह व शाम के तापमान में भारी गिरावट दर्ज की जा रही है। शुक्रवार को प्रदेश के न्यूनतम और अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक गिरावट दर्ज की गई है।

Read more

बर्फबारी से गुलजार हुई लाहौल और मनाली की चोटियां, खिले पर्यटन व्यवसायियों के चेहरे

त्योहारी सीजन में मनाली में हो रही ताजा बर्फबारी से जहां एक तरफ पर्यटकों के चेहरे खिल गए हैं, वहीँ दूसरी तरफ पर्यटन से जुड़े व्यापारियों में भी ख़ुशी की लहर दौड़ पड़ी हैं। पर्यटन व्यापारियों का कहना है कि गुरुवार को घाटी में हुई ताजा बर्फ़बारी और आसमान में बादल छा जाने से यहां का मौसम सुहावना हो गया हैं। व्यापारियों का मानना है कि दशहरा सीजन में घाटी में ज्यादा पर्यटक नहीं पहुंचे, लेकिन हाल ही में हुई ताजा बर्फबारी के कारण दिवाली में कारोबार बेहतर होने की उम्मीद है।

Read more

हरे-भरे पहाड़ों से घिरा हुआ पवित्र धार्मिक स्थल है कुल्लू का हणोगी माता मंदिर

मान्यता है कि प्राचीन काल में यह स्थान अभय राम गुरु का निवास स्थल था। वह तांत्रिक विद्या में निपुण थे। लोगो की मान्यता है कि अभय राम गुरु ने अपनी शक्तियों की मदद से तुंगाधार पर्वत श्रृंखला से तुंगा माता को हणोगी लेकर आए थे।

Read more