देखिए Rohtang की खूबसूरती, शुरू हुई इलेक्ट्रिक बस सेवा, सिर्फ 600 रुपये में

अब पर्यटक बिना किसी परमिट के इलेक्ट्रिक बसों से रोहतांग आराम से घूम सकेंगे। 13 जून से प्रतिदिन 5 इलेक्ट्रिक बसें रोजाना भेजी जाएंगी, जिनकी संख्या बाद में बढ़ाई जाएगी।

Read more

आखिरकार लंबे इंतजार के बाद पर्यटकों के लिए बहाल हुआ मनाली-लेह मार्ग

इस मार्ग के बहाल होने के होने से अब पर्यटक 15,500 फुट ऊंचे बारालाचा दर्रे में बर्फ का दीदार कर सकेंगे। इसके अलावा 17,000 फुट ऊंचे तांगलंगला दर्रे के सुहाने सफ़र का मजा भी ले सकेंगे।

Read more

पहाड़ों में उमड़ा सैलानियों का सैलाब, शिमला-मनाली में लग रहा जाम

हिमाचल प्रदेश के शिमला, मनाली, डलहौजी समेत कई हिल स्टेशनों पर सैलानियों की भीड़ उमड़ रही है। राजधानी शिमला और पर्यटन नगरी मनाली में तो जैसे पर्यटकों का सैलाब उमड़ आया है।

Read more

Rohtang और आदि हिमानी Chamunda के लिए रोपवे का निर्माण जल्द

पलचन से रोहतांग तक का रोपवे 9 किलोमीटर लंबा होगा। इस पर करीब 450 करोड़ रुपये का खर्च आना है। वहीं, करीब 6 किलोमीटर हिमानी चामुंडा रोपवे पर 280 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।

Read more

खत्म हुआ पर्यटकों का इंतजार, आज से कर सकेंगे Rohtang Pass का दीदार

रोहतांग दर्रे को हिमाचल प्रदेश के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल में से एक माना जाता है। यहां जून के महीने में बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं। इस बार रोहतांग दर्रे पर मस्ती करने के लिए पर्यटकों को 5 से 20 फीट बर्फ मिलेगी।

Read more

मढ़ी में तैयार हुआ इको फ्रेंडली मार्केट, रोहतांग खुलने के बाद मिलेगी सुविधाएं

इको फ्रैंडली मार्केट के स्थापित होने के बाद मढ़ी पहुंचने वाले पर्यटकों को खाने पीने के लिए सुविधा मिल सकेगी। इको फ्रैंडली मार्केट के अलावा मढ़ी में पर्यटकों की सुविधाओं के लिए पार्किंग, मोबाइल सिग्नल, डस्टबिन, शौचालय के लिए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट भी तैयार किए जा रहे हैं।

Read more

हिमाचल के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का दौर जारी, कुल्लू-मनाली में बारिश

रोहतांग दर्रा के अलावा बाराचुला, कुंजुम दर्रा, मकरवे, शिकरवे, मनाली पीक, सेवन सिस्टर पीक, लद्दाखी, हनुमान पीक, देऊ टिब्बा और चंद्रताल में भी बर्फबारी हुई।

Read more

पर्यटकों के लिए एक बार फिर से खोला गया रोहतांग दर्रा, जनजातीय लोगों ने ली राहत की सांस

सीमा सड़क संगठन के जवानों ने मिशन स्नो क्लीयरेंस शुरू करने के महज 24 घंटों के भीतर ही रोहतांग दर्रे को बहाल कर दिया। रोहतांग दर्रे के खुलने के बाद शुक्रवार को कोकसर से मनाली की तरफ लगभग 50 वाहनों को छोड़ा गया, जबकि वन वे ट्रैफिक के चलते मनाली से लाहौल की तरफ एक भी वाहन को नहीं जाने दिया गया। शनिवार को मनाली से लाहौल की तरफ वाहनों को छोड़ा जाएगा।

Read more

बर्फबारी के कारण शून्य से नीचे पहुंचा लाहौल-स्पीति का तापमान, जमने लगी है चंद्रभागा नदी

बर्फबारी और बारिश के कारण लाहुल घाटी में बिजली और दूर संचार सेवा भी ठप पड़ी हुई हैं। लोग अंधेरे में राते काटने को मजबूर हैं। लाहुल घाटी सहित प्रदेश कई हिस्सों में दोपहर तक आसमान में काले बादल छाए रहे जबकि देर शाम तक मौसम के बिगड़ने के आसार है। इसके अलावा किन्नौर जिले में बर्फबारी के कारण सेब की फसलों को भी नुकसान खासा नुकसान पहुंचा है। लाहुल-स्पीति, कुल्लू, किन्नौर व अन्य जगहों में सड़कें बंद होने की वजह से सेब मंडियों तक नहीं पहुंच पा रहा है।

Read more

रोमांचक यात्रा के शौकीनों के लिए बेहतरीन जगह है रोहतांग दर्रा

रोहतांग दर्रा को पहले ‘भृगु तुंग’ के नाम से जाना जाता था। रोहतांग दर्रा से बादलों को छू रहे पर्वतों का विहंगम दृश्य देखने को मिलता है। ऐसा नजारा दुनिया में बहुत कम जगह ही देखने को मिलता है। यहां की खूबसूरती का आनंद उठाने के लिए हज़ारों की संख्या में पर्यटक रोहतांग दर्रा पहुंचते हैं।

Read more